इस गाँव में महिलाये गिलास से नहीं बल्कि पति के इस चीज से पीती है पानी जिसे देख आपके उड़ जायेंगे होश ?

0
15532

हम सभी जानते है कि भारत ही एक ऐसा देश है जहाँ अभी भी अपने धर्मो को लेकर कट्टरता दिखाते है और अभी भी भारत में कई गाँव ऐसे है जहाँ अभी भी पुराणी प्रथाओं के रीतिरिवाजों को लोग सर आँखों पर रखते है और अभी भी वह प्रथा चलती आ रही है आपको बता दे कि आज हम भारत के एक ऐसे गाँव से मिलाने वाले है महिलाएं गिलास से नही बल्कि पति कि एक ऐसी चीज से पानी पीती है जिसे देख आपका भी खून खौल उठेगा कि आज के ज़माने भी महिलाएं ऐसा करती है लेकिन आज के समय में अगर हम बात करें तो लड़का हो लड़की सभी को बराबर का हक़ मिलना चाहिए |

और हम सभी जानते है लड़कियों के हित के लिए भारत सरकार ने एक अलग ही कानून बनाया है जिससे महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों को रोका जा सके और ,महिलाएं अपने जीवन में जो करना चाहे वह अपने जीवन में वह कर सके उन्ही पूरी खुली छुट है इसकी और कोई भी पुरुष उनके साथ कोई जबरदस्ती नही कर सकता और हम सभी जानते है कि आज कल कि लड़कियां चाँद को भी छूने का हौसला रखती है और ऐसे कई सपने महिलाओं ने पुरे भी किये है जिससे देश को बेटियों पर गर्व होता है |

लेकिन वही बात करें एक ऐसे गाँव कि जहाँ महिलाएं अभी पुरुषो के पैरो तले काम करने को मजबूर है आपको बता दे कि यहाँ अभी भी महिलाये अन्धविश्वास में जी रही है और यहाँ महिलाएं पानी पिने के लिए गिलास का नही बल्कि पतियों के जुते से पानी पीती है और उनके इस वजह का कारण अगर आपको बताये तो दंग रह जायेंगे आपको बता देकी यह कहानी राजस्थान के भीलवाड़ा इलाके कि है और इसी गाँव में एक बंकाया नाम का माता का मंदिर है जहाँ महिलाओं के साथ वहां के पुजारी भुत-प्रेत को भगाने के नाम पर महिलाओं के साथ क्रूरता के साथ पेस आते है और इनके अत्याचारों को अगर आप देखेंगे तो आप भी विश्वाश नही करोगे |

आपको बता दे कि यहाँ पर पुजारी महिलाओं को भुत प्रेत को भगाने के नाम पर महिलाओं के साथ शर्मनाक हरकते करते है यही नही उन्हें मारते भी है और उनके पतियों के गंदे जूते उनके सर पर रख कर कई किलोमीटर तक चलवाते है लेकिन कई बार महिलाएं ऐसा करने से हिचकिचाती है लेकिन घर के दबाव के कारण उन्हें ऐसा करना ही पड़ता है | और ऐसा करते हुए जब महिलाएं गाँव कि गलियों में घुमती है तो बच्चे उन्हें देख हसतें है और कितनी शर्मिंदगी महसूस करती होंगी वह महिलाएं जो अपने पतियों के गंदे जूते को अपने मुह में दबा के पुरे गाँव में घुमती होंगी |