देखिये आखिर क्यों रिटायर्मेंट के बाद भरतीय सेना मार देती है वफादार कुत्तो को गोली

0
501

दुनिया में वफादारी की बात की जाये तो सभी जानते है सबसे पहले लोगो के मुंह से किसी इन्सान नहीं बल्कि एक जानवर का नाम निकलता है जो की कुत्तो का होता है, मुहावरों में भी हमेशा कुत्तो की वफादारी का जिक्र हमेशा रहा है.. दुनिया में कुत्तो को ही सबसे ज्यादा वफादार जानवर माना गया है जबकी वो हमेशा इस कसौटी पर खरे भी उतारते है..!!

भारतीय सेना के साथ साथ बाकि ख़ुफ़िया एजंसियो में भी कुत्तो की सूंघने की त्रीव छमता की वजह से इनका इस्तेमाल कई जटिल समस्याओ के समय किया जाता है, पुलिस जैसी एजंसियो जहाँ की वफादार कुत्तो के रिटायर्मेंट के बाद किसी पुलिस वालो को उसे सौंप दिया जाता है उसके ही उलट सुनने में मिलता है की भारतीय सेना अपने वफादार  कुत्तो को गोली से मार देती है और ये खबर चौकाने के साथ साथ सही भी है

भारतीय सेना कुत्तो की बहुतन जगह इस्तेमाल करती है और कुत्ते भी कई भारतीय सैनिको की जान बचने में मदत करते है जैसे की सियाचिन जैसे इलाको में जहाँ कभी भी मौसम बिगड़ने की वजह से जब कोई सैनिक बर्फ में फंस जाता है तो कुत्तो का ही सहारा लेकर उन्हें खोजा जाता है, साथ साथ कुत्तो का इस्तेमाल छुपे हुए आतंकवादियो को खोजने के लिए और बम को खोप्जने के लिए भी किया जाता है

तो आइये अब आपको बताते है विडियो के जरिये की आखिर क्यों इतनी महँ भारतीय सेना अपने वफादार कुत्तो को गोली से मार देती है..??

वैसे एक व्यक्ति द्वारा डाले गए RTI के जवाब में सेना ने बताया है की भारतीय सेना के कुत्ते आम नहीं होते उन्हें भारतीय सेना के कई ख़ुफ़िया इलाको की जानकारी होती है अगर गलती से कोई सेना का कुत्ता किसी गलत आदमी के हाथ लग जाये तो ये भारत की और सेना की सुरक्षा पर खतरा खड़ा कर सकता है इसलिए हमें भी अपने दिल पर पत्थर रखकर अपने वफादार कुत्तो को गोली मारनी पड़ती है

भारतीय सेना के वफादार कुत्तो को श्रधांजलि देते हुए ये पोस्ट जरुर शेयर करे पढने के बाद ये कुत्ते भी भारत के कई सेच्युलारो से बेहतर है जो भारत में रहकर भी भारत के नहीं है..